Connect with us

Business

डॉक्टर्स डे पर बजाज फिंसर्व का चैम्पियनस #OneLifeManyRoles अभियान

Published

on

Bajaj Finserve's Champion #OneLifeManyRoles Campaign on Doctor's Day
पुणे/महाराष्ट्रबजाज फिंसर्व की लीडिंग शाखा बजाज फाइनेंस लिमिटेड ने डॉक्टर्स डे पर डाक्टर्स के सम्मान के लिए विशेष अभियान की घोषणा की है। कंपनी #OneLifeManyRoles अभियान के माध्यम से बजाज फिंसर्व इंडियन हैल्थकेयर इंडस्ट्री में डॉक्टर्स के योगदान के लिए उनकी सराहना करते हुए डाक्टर्स डे सेलिब्रेशन कर रहा है। Bajaj Finserve’s Champion #OneLifeManyRoles Campaign on Doctor’s Day
कंपनी ने 28 जून, 2019 और 4, जुलाई 2019 की सीमित अवधि में प्रतियोगिता का आयोजन किया। इस प्रतियोगिता में अमेजन इको डॉट जैसे पुरुस्कार जीते जा सकते है। इसके साथ ही बजाज फिंसर्व से 20 लाख तक लोन लेने वाले डॉक्टर्स को इंडेमनिटी इन्सुरेंस देने का आश्वासन भी दिया है। यह डॉक्टरों के लिए बजाज फिंसर्व की कस्टमाइज्ड फाइनेंशियल सॉल्यूशंस की सीमा को पूरा करता है, जो उन्हें अपनी कई भूमिकाओं और जिम्मेदारियों को पूरा करने में मदद करता है, यह एक प्रदाता, देखभालकर्ता, माता-पिता, काउंसलर, इनोवेटर या किसी समझौते या किसी भी परेशानी के बगैर संरक्षक के रूप में है।
Bajaj Finserve's Champion #OneLifeManyRoles Campaign on Doctor's Day

Bajaj Finserve’s Champion #OneLifeManyRoles Campaign on Doctor’s Day

डॉक्टरों के लिए पर्सनल लोन
इस अनसिक्योर्ड लोने के माध्यम से, बजाज फिंसर्व डॉक्टर्स को फ्लेक्सी लोन सुविधा प्रदान करता है। प्रतिस्पर्धी ब्याज दर पर 32 लाख तक वे बिना किसी समझौता किए वे स्वयं और अपने परिवार की जरूरतों को पूरा कर सकते है। साथ ही डॉक्टर्स अपने बेटे और बेटी के लिए एक भव्य शादी समारोह से लेकर परिवार के लिए इंटरनेशनल हॉलिडे तक प्लान कर सकते है। बजाज फिंसर्व को पर्सनल लोन देकर उनकी जरूरतों को पूरा करने का बहेतर विकल्प के रूप में कार्य करता है।  चिकित्सकों को ईंधन देता है। साथ ही यह अन्य सुविधाओं जैसे डोरस्टेप डॉक्यूमेंट कलेक्शन, 24 घंटे में बैंक में पैसा और कुछ को नाम देने के लिए प्री-अप्रूव्ड ऑफर भी प्रदान करता है।
डॉक्टरों के लिए बिज़नेस लोन
बजाज फिंसर्व 32 लाख रुपये तक के फाइनेंसिंग करता है, जो उन्हें मामूली ब्याज दर पर, कॉलेटरल फ्री बेसिस पर दिया जाता है। ताकि डॉक्टर अपने बिज़नेस को ग्रोथ दे कर सफलता के साथ आगे बढ़ा सकें। देश में डॉक्टर्स ओर मरीज़ों के अनुपात में बहुत अधिक असंतुलन है। इस अनुपात को कम करने के लिए डॉक्टरों के लिए बिजनेस लोन का उपयोग सुनिश्चित करता है कि डॉक्टर्स की पहुँच अधिक से अधिक लोगों तक हो और उनके निदान, सलाहकार या जीवन-यापन के प्रयासों को आगे बढ़ाने का साधन बने।

Bajaj Finserve’s Champion #OneLifeManyRoles Campaign on Doctor’s Day

फिक्स्ड डिपॉजिट
चाहे वह धन सृजन, सेवानिवृत्ति योजना या महत्वपूर्ण अभी तक महंगी खरीद के लिए बचत करने के लिए, बजाज फिंसर्व  डॉक्टरों को यह करने के लिए अपने उच्च-इंट्रेस्ट फिक्स्ड डिपॉजिट का उपयोग करने की क्षमता प्रदान करता है। डॉक्टर शैक्षिक खर्चों को पूरा करने या अपग्रेड उपकरणों और नैदानिक उपकरणों को बचाने के लिए एफडी की सीढ़ी बना सकते हैं।

Business

पेट्रोल के दामों में आई गिरावट, डीजल के दाम हैं स्थिर

Published

on

petrol-diesel

देश में हर रोज बढ़ती मंहगाई से हर कोई परेशान चल रहा है। हर दिन पेट्रोल और डीजल के दामों में भी लगातार बढ़ोतरी हो रही है। जिससे आम जनता बेहद ही परेशान चल रही है। आए दिन पेट्रोल और डीजल के दाम घटते और बढ़ते रहते हैं। सुबह 6 बजे से पेट्रोल-डीजल का नया दाम लागू कर दिया जाता है। डीलर कमीशन, एक्साइज ड्यूटी और बाकि का सब जोड़ देने के बाद पेट्रोल और डीजल के दामों में करीब दोगुना ज्यादा बढ़ोतरी हो जाती है।

बता दें कि अमेरिकी डॉलर का क्रूड ऑयल की कीमत, एक्सचेंज रेट और ईंधन की मांगों के साथ कई अन्य चीजें भी काफी ज्यादा प्रभावित होती रहती हैं। इंटरनेशनल क्रूड ऑयल की कीमत जब भी बढ़ती है। तो फिर ऐसे में भारत में भी इनका दाम काफी बढ़ता है। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव पर भारत में पेट्रोल-डीजल की कीमतें हमेशा निर्भर करती हैं। तेल की खपत का बेहद बड़ा हिस्सा इससे आयात होता है।

आज 29 जुलाई को पेट्रोल के दाम में गिरावट देखने को मिली है। तो वहीं डीजल के नाम स्थिर हैं। आइए इन चार बड़े शहरों में आज के पेट्रोल और डीजल के दामों के बारे में जानते हैं। दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 73.14 रुपये प्रति लीटर है। वहीं पेट्रोल की कीमत चेन्नई में घटकर 75.96 रुपये प्रति लीटर, मुंबई में 78.75 रुपये और कोलकाता में 75.75 रुपये प्रति लीटर है।

इसके अलावा बाकि के अन्य बड़े शहरों में पेट्रोल की कीमत इतनी है। इलाहाबाद में 72.45 रुपये प्रति लीटर, आगरा में 72.19 रुपये प्रति लीटर, भोपाल में 78.29 रुपये प्रति लीटर और अहमदाबाद में 70.52 रुपये प्रति लीटर पेट्रोल की कीमत है। वहीं डीजल की कीमत आगरा में 65.04 रुपये प्रति लीटर, इलाहाबाद में 65.35 रुपये प्रति लीटर और भोपाल में 69.51 रुपये प्रति लीटर है।

Continue Reading

Business

अब बड़े लेन के लिए जरूरी होगा आधार कार्ड

Published

on

aadahar card

इन दिनों सरकार कई सारी नई योजनाएं को लेकर काम कर रही है। जिससे सीधा असर आप पर पड़ेगा। हाल ही में सरकार एक योजना बना रही है। जिसके चलते आप सलाना अगर अपने बैंक खाते में एक निश्चित राशि जमा करवाते हैं या फिर निकालते हैं। तो फिर आपके द्वारा केवल पैन की जानकारी देना ही काफी नहीं होगा। बल्कि इसके लिए सरकार आपके आधार कार्ड को काफी जरूरी बना सकती है। इस कदम से सरकार का उद्देश्य केवल भारत की अर्थव्यवस्था में करेंसी के अधिक प्रवाह पर नकेल कसना ही है।

आपसे इसके लिए बायोमेट्रिक टूल या वन टाइम पासवर्ड (OTP) का इस्तेमाल भी करके केवाईसी करवा सकते हैं। सामने आई एक खबर के अनुसार इसका दायरा और भी बढ़ा दिया जाएगा। वहीं फाइनेंशल बिल में प्रस्तावित विधेयकों के मुताबिक इसकी वक्त सीमा से ज्यादा विदेशी करंसी की खरीद भी शामिल होगी। लेकिन मौजदा वक्त में  केवल पैन कार्ड ही इसके लिए दिया जाता है।

एक सूत्र ने इस मामले को लेकर जानकारी दी है कि किसी निश्चित मूल्य के प्रॉपर्टी लेन-देन को लेकर सिरफ आधार कार्ड या फिर पैन की जानकारी देना भी अधिक अनिवार्य नहीं होगा। एक वक्त पर प्रॉपर्टी के रजिस्ट्रेशन के आधार पर प्रमाणीकरण की भी काफी ज्यादा जरूरत होगी। लेकिन सरकार की इस योजना के तहत छोटे लेन देन वालों को बिल्कुल भी परेशानी नहीं होगी।

आपको बता दें कि सूत्रों के मुताबिक इस तरह से सरकार इस व्यवस्था के अंतरगत एक सीमा तय करना चाहती है। जिस वजह से छोटे लेन-देन वालों को अभिक समस्या नहीं होगी। उन लोगों को किसी भी तरह की कोई दिक्कत का सामना भी नहीं करना पड़ेगा। इसके अलावा इससे उन लोगों को ट्रैक भी किया जा सकेगा जो कि एक निश्चित मूल्य से ज्यादा का लेन देन किया करते हैं।

Continue Reading

Business

जैम पोर्टल; तकीनीकी रूप से हो रहा सरकारी धन का दुरूपयोग

Published

on

Jam portal; technically occurring misuse of government money

दिल्ली : केंद्र सरकार की अति महत्वपूर्ण योजना जैम पोर्टल में कुछ कंप्यूटर व्यवसायी सेंध लगा कर सरकारी धन का दुरूपयोग कर रहे है एवं अवैध ढंग से मुनाफा कमा रहे है. Jam portal; technically occurring misuse of government money

केंद्र सरकार की अति महत्वपूर्ण योजना “जैम पोर्टल ” विभागीय आपूर्ति हेतु संचालित किया गया है जो की उत्तम उत्पाद एवं उचित मूल्य होने की पुष्टि करता है. केंद्र सरकार की यह योजना कई मायने में बहुत ही महत्वपूर्ण एवं कारगर है. जिससे छोटे बड़े सभी उत्पादकों को सरकार में अपनी उत्पाद की विक्री करना अति सरल हो गया है एवं पारदर्शिता की पुष्टि भी करती है.

गवर्नमेंट ई मार्केट प्लेस योजना केंद्र एवं प्रदेश सरकार दोनों पर लागू है. विभागों के लिए किसी भी सामान का क्रय करना अति सरल एवं पारदर्शी हो गया है परन्तु कुछ कंप्यूटर व्यवसायी इसमें भी सेंध लगा कर सरकारी धन का दुरूपयोग कर रहे है एवं अवैध ढंग से मुनाफा कमा रहे है.

कंप्यूटर आज भी आम जनमानस से पूर्णतः परिचित नहीं है जिसका लाभ कुछ व्यवसायी खूब उठा रहे है जो की बड़े ही तकनीकी ढंग से चोरी कर सरकार को चूना लगा रहे है एवं धन उगाही कर रहे है.

Jam portal; technically occurring misuse of government money

Jam portal; technically occurring misuse of government money

इस तकनीकी चोरो पर थोड़ा प्रकाश डालते चले की किस प्रकार हो रहा है यह खेल. बताते चले की कंप्यूटर में ऑपरेटिंग सिस्टम होता है जिसके माध्यम से कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जाता है जो की माइक्रोसॉफ्ट कंपनी बनाती है. जिस भी विभाग में कंप्यूटर की आपूर्ति की जाती है उसमे अधिकतर व्यवसायियों द्वारा ऑपरेटिंग सिस्टम की चोरी की जा रही है जैसा की सूत्रों से ज्ञात हुवा है की प्रति कंप्यूटर ये व्यवसायी लगभग दस हजार रूपये की हेराफेरी करते है एवं सरकार के धन का दुरूपयोग करते है.

मुख्य उत्पादक से डास मोड में कंप्यूटर क्रय कर अवैध ऑपरेटिंग सिस्टम प्रतिस्थापित कर देते है जिससे की उनका मुनाफा कई गुना बढ़ जाता है और सरकार को करोड़ो रूपये का चपत लग रहा है. आपूर्ति से पूर्व उत्पाद का उचित जाँच न होना या निचले स्तर के कर्मचारियों की संलिप्तता होना निश्चित है.

Jam portal; technically occurring misuse of government money

जहां देश के प्रधानमंत्री भ्रष्टाचार को रोकने का अथक प्रयास कर रहे है वही भ्र्ष्ट व्यवसायी अपने तकनीकी जानकारी के वदौलत अपनी बुद्धिमता का गलत इस्तेमाल कर सरकार को आर्थिक एवं गुणवत्ता का हानि पंहुचा रहे है. जबकि जैम पोर्टल एक ऐसी योजना है जिससे की सरकार प्रति वर्ष हजारो करोड़ रूपये बचाने का प्रयास कर रही है एवं छोटे व्यवसायियों को भी मौका दे रही है की वो अपने उत्पाद की विक्री सीधे सरकार को कर सके.

अब देखना यह है कि अधिकारी इस दुरूपयोग एवं सरकारी खजाने को बचाने में अपनी कितनी सहभागिता निभा रहे है अथवा उन भ्र्ष्ट व्यवसायियों के साथ संलिप्त हो कर केंद्र सरकार के इस उत्तम योजना को ठेंगा दिखा रहे है.

Continue Reading

Trending