Connect with us

Politics

12 साल बाद किसी भारतीय पत्रकार को मिला ‘रेमॉन मैंग्सेसे अवॉर्ड’, अरविंद केजरीवाल ने दी बधाई

Published

on

रवीश कुमार

एशिया का नोबेल कहे जाने वाले रेमन मैंग्सेसे पुरस्कार 2019 की घोषणा हो चुकी है, जिसे प्राप्त करने वाले 5 लोगों में से भारतीय पत्रकार रवीश कुमार का नाम भी शामिल है। रवीश कुमार को यह पुरस्कार हिंदी पत्रकारिता में उनके योगदानों के लिए मिला है।

पुरस्कार मिलने के बाद रवीश कुमार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बधाई दी। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, रवीश कुमार की 2019 के रेमॉन मैंग्सेसे पुरस्कार की घोषणा की बड़ी खबर सुनकर प्रसन्नता हुई। मैं रवीश कुमार का मैंग्सेसे पुरस्कार विजेताओं के क्लब में स्वागत करता हूं और आशा करता हूं कि इन कठिन समयों में उनकी बहादूर पत्रकारिता को मजबूती मिलेगी। बहुत बहुत बधाई मेरे मित्र। बहुत अच्छा।

बता दें इस पुरस्कार को नोबेल पुरस्कार का एशियाई संस्करण माना जाता है। प्रशिस्त पत्र में रवीश कुमार को भारत का सबसे प्रभावी टीवी पत्रकारों में से एक बताया गया है। बता दें मैंग्सेसे पुरस्कार के लिए विभाजित श्रेणियों में जर्नलिज्म, लिट्रेचर और क्रिएटिव कम्युनिकेशन आर्ट्स को एक ही श्रेणी में रखा गया है। इस श्रेणी में पुरस्कार पाने वालों में रवीश कुमार 11वें भारतीय हैं।

यह पुरस्कार एशिया के व्यक्तियों और संस्थानों को उनके अपने क्षेत्र में किए गए उल्लेखनीय कार्यों के लिए दिया जाता है। बता दें यह पुरस्कार फिलीपीन्स के भूतपूर्व राष्ट्रपति रैमॉन मैंग्सेस की याद में दिया जाता हैं।

रवीश कुमार के अलावा म्यांमार के को सी विन, थाइलैंड की अंगहाना नीलपाइजित, फिलिपींस के रमेंड और दक्षिण कोरिया के किम जोंग की को भी मैंग्सेसे अवॉर्ड देने की घोषणा की गई है। बता दें 12 साल के बाद किसी भारतीय पत्रकार को यह पुरस्कार मिला है।

Politics

आखिरकार ढाई महीने बाद मिल ही गया कांग्रेस को नया अध्यक्ष

Published

on

कांग्रेस

कांग्रेस पार्टी को आखिरकार अध्यक्ष मिल ही गया। लोकसभा चुनाव के बाद से ही करीब ढाई महीने तक कांग्रेस बिना अध्यक्ष के रही, लेकिन अब इतने दिनों बाद अध्यक्ष की कमी पूरी हो गई और गांधी परिवार से ही एक नया अध्यक्ष मिल गया। कांग्रेस कार्यसमिति ने सोनिया गांधी को नया कांग्रेस अंतिरम अध्यक्ष चुना है। कांग्रेस अधिवेशन में नियमित अध्यक्ष के चुनाव तक वह पार्टी की बागडोर संभालेंगी। सीडब्लूसी बैठक के बाद रणदीप सुरजेवाल ने कहा कि सोनिया गांधी सबसे तजुर्बेकार नेता है।

कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में अध्यक्ष पर पर बने रहने के बाद नेताओं के अनुरोध को राहुल गांधी ने ठुकरा दिया था। जिसके बाद शनिवार को पार्टी के नए अध्यक्ष के चयन के लेकर विस्तृत परामर्श का दौर चला। इस बीच राहुल गांधी ने नया अध्यक्ष चुनने की प्रक्रिया से खुद को अलग कर लिया था। सीडब्ल्यूसी के नेताओं का अलग-अलग समूहों में बांटकर बैठक हुई। पांच अलग-अलग समूह- पूर्वोत्तर क्षेत्र, पूर्वी क्षेत्र, उत्तर क्षेत्र, पश्चिमी क्षेत्र, पूर्वी क्षेत्र में बैठक हुई।

सीडब्ल्यूसी की बैठक के बाद रात करीब 11.05 मिनट पर कांग्रेस के मीडिया इंचार्ज रणदीप सुरजेवाला और महासचिव सी. वेणुगोपाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसकी जानकारी दी। वेणुगोपाल ने बताया कि ‘कांग्रेस कार्यसमिति की दूसरी बैठक साढ़े 8 बजे शुरू हुई और अभी-अभी खत्म हुई है। बैठक में सर्वसम्मति से 3 प्रस्ताव पास किए गए।‘

राहुल गांधी ने प्रस्ताव की तारीफ करते हुए पार्टी को नई ऊर्जी दी और कांग्रेस के सभी कार्यकत्ताओं को प्रेरित किया।

अगले प्रस्ताव में राहुल गांधी के अध्यक्ष पद न छोड़ने की अपील की। इसी बीच वेणुगोपाल ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्षों, विधायक दल के नेताओं, सासंदों और अन्य नेताओं से चर्चा के बाद सीडब्ल्यूसी ने सर्वसम्मति से फैसला किया कि राहुल को ही अध्यक्ष बनना चाहिए। लेकिन राहुल ने इसे ठुकरा दिया।

इसी बीच राहुल गांधी ने ये भी कहा कि जम्मू-कश्मीर में चीजें बहुत गलत है साथ ही हिंसा भी खतरे में आ गई है। उन्होंने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री यह स्पष्च कर दे कि जम्मू-कश्मीर में जो चल रहा है उस पर हमारी प्रस्तुति थी।

Continue Reading

Politics

बीजेपी के पूर्व विधायक पर बहू ने लगाया बलात्कार का आरोप, दर्ज हुआ मामला

Published

on

RAPE

देश में इन दिनों बलात्कार की कई घटनाएं सामने आ रही हैं। रेप की घटनाओं में कई बीजेपी विधायकों का नाम सामने आ रहा है। ऐसा ही मामला हाल ही में सामने आया है। दिल्ली में बीजेपी के पूर्व विधायक मनोज शौकीन पर उनकी बहू ने रेप का गंभीर आरोप लगाया है। मनोज शौकीन बीजेपी से दो बार विधायक रह चुके हैं। पश्चिम विहार थाने में उनकी बहू ने इस मामले को लेकर केस दर्ज कराया है।

31 दिसंबर 2018 और 1 जनवरी 2019 की रात के बीच विधायक मनोज शौकीन ने बंदूक की नोक पर अपनी बहू का रेप किया था। मुंडका और नांगलोई जाट से मनोज शौकीन विधायक रहे हैं। पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज कराते हुए बताया है कि उनके परिवार की 31 दिसंबर 2018 को एक होटल में पार्टी थी। पार्टी के बाद जब वो घर गई तो ससुर ने रिवॉल्वर की नोक पर रेप की घटना को अंजाम दिया।

FIR कराते हुए पीड़िता ने न्याय की गुहार लगाई है। ये एफआईआर 8 अगस्त 2019 को दर्ज की गई है। जानकारी दे दें कि इस घटना से पहले भी पीड़िता ने सुसरालवालों पर घरेलू हिंसा का केस दर्ज करवाया था। दर्ज हुई FIR के मुताबिक “इसी साल सात जुलाई को क्राइम अगेंस्ट वीमेन सीएडब्ल्यू सेल में मेरी मां और पिता का उत्पीड़न हुआ, इस संबंध में साकेत पुलिस स्टेशन में एक मामला दर्ज है।”

“बुधवार को जब मैं घरेलू हिंसा के मामले के संबंध में साकेत कोर्ट पहुंची और मेरा बयान लिखने के लिए प्रोटेक्शन अधिकारी से मिली, तो संबंधित प्रोटेक्शन अधिकारी ने मुझे मेरी तथा मेरे परिवार की सुरक्षा का आश्वासन दिया, इसके बाद मैंने अपनी घटना के बारे में अधिकारी तथा अपने परिजनों को बताया।” भारतीय दंड संहिता की धारा 376 और 506 के तहत शौकीन के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।

Continue Reading

Politics

बौखलाए पाकिस्तान ने ट्रेन के बाद बस सेवा भी रोकी

Published

on

kashmir

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद से ही पाकिस्तान बुरी तरह बौखला गया है। जिस कारण वह एक के बाद एक फैसला लेता जा रहा है। अब पाकिस्तान ने पाकिस्तान-भारत बस सेवा रोक दी है। इसके साथ ही पाकिस्तान ने थार एक्सप्रेस की सेवाओं को भी बंद कर दिया है।

यह ट्रेन जोधपुर से कराची तक चलती है। इससे पहले समझौता एक्सप्रेस रोकने का ऐलान किया था। इसकी जानकारी पाकिस्तान के रेल मंत्री शेख रशीद अहमद ने दी। जिसके जवाब में भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा
कि यह पाकिस्तान का एकपक्षीय फैसला है। उन्होंने कहा कि बिना हमें जानकारी देते हुए पाकिस्तान ने ऐसा किया है।

पाकिस्तान ने समझौता एक्सप्रेस के साथ अपने ड्राइवर और गार्ड को भेजने से मना कर दिया। अनुच्छेद 370 अनुच्छेद हटने के बाद पाकिस्तान ने इस कदम को अंतरराष्ट्रीय मुद्दा बना दिया और लगातार विरोध करना शुरू कर दिया।

लगातार ट्रेन लेट हो रही है। बृहस्पतिवार को वाघ सीमा पर पाकिस्तान द्वारा ट्रेन रोके जाने से एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय पर नही पहुंच पाई और साढ़े चार घंटे की देरी से रेलवे स्टेशन पहुंची। इस कारण बहुत सारे व्यक्ति परेशान रहें।

भारत में अनुच्छेद 370 हटने पर लोगों के चेहरे पर खुशी का माहौल देखने को मिल रहा है। जम्मू-कश्मीर राज्य को जम्मू कश्मीर और लद्दाख के रूप में केंद्र शासित प्रदेश के रुप में बांट दिया है। बता दें जम्मू-कश्मीर के पक्ष में ऐतिहासक फैसला लेने पर पाकिस्तान के मन में उदासी छाई हुई है।

Continue Reading

Trending